शिक्षा ऋण Education Loan Kya Hai Education Loan Kaise Milega

Spread the love

Education Loan Eligibility और Education Loan Kaise Milega यह बातें अक्सर MBA करने वाले स्टूडेंट्स सर्च करते रहते हैं. शिक्षा जगत पूरी तरह से व्यापार में बदल चुका है. यहाँ शिक्षा का आदान प्रदान कम और पैसों का ज्यादा होता है. MBA College की Fee मिडिल क्लास फॅमिली के लिए बहुत बड़ा राशि है. इतने पैसे में वो लड़की की शादी कर लेंगें लेकिन क्या करें बच्चे की जिद्द है उसे MBA करना है तो पैसों का इंतजाम करना ही होगा. इसके लिए Education Loan ही एक मात्र विकल्प बचता है. कुछ दिनों पहले एक स्टूडेंट से बात हुई जो अभी MBA कर रहा है और Education Loan मिलने में इसे बहुत परेशानियों का सामना करना परा. इसकी परेशानी को समझते हुए यह पोस्ट लिखा जा रहा है ताकि आने वाले समय में यदि कोई स्टूडेंट EDUCATION LOAN लेता है तो वह आसानी से समस्याओं को सुलझा सके.

Education Loan Kya Hai

आज के आधुनिक और आर्थिक युग में हर कोई अच्छी शिक्षा प्राप्त कर बढ़िया नौकरी या अपना व्यापार करना चाहता है. देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री भी व्यापार बढ़ावा देने की बात करते रहते हैं. लेकिन महंगाई के इस दौर में उच्च शिक्षा भी बहुत महंगी हो गई है. कुछ स्कूल भी ऐसा है जिसका फी किसी प्रोफेशनल कोर्स और कॉलेज फी से काम नहीं है. कुछ प्राइवेट कॉलेज में एक सामान्य से कोर्स का फी मिडिल क्लास फैमिली के लिए दे पाना संभव नहीं हो पाता है. इन्हीं समस्याओं को दूर करने के लिए बैंक एजुकेशन लोन देने का काम कर रही है.

एजुकेशन लोन की मदद से देश के साथ आप विदेश में उच्च शिक्षा पा सकते हैं. देश की लगभग सभी अग्रणी बैंक एजुकेशन लोन देने का काम कर रही है. यह लोन सिर्फ और सिर्फ शिक्षा पर खर्च करने के लिए मिलता है. शिक्षा से सम्बंधित हर तरह के खर्च के लिए यह लोन मिल जाता है. इसमें शिक्षा में उपयोग होने वाला तकनिकी यंत्र (Laptop) हॉस्टल फी भी शामिल हो सकता है. यह बैंक और शिक्षण संस्थान पर निर्भर करता है.

किस खर्च के लिए एजुकेशन लोन मिलता है?

  1. स्कूल / कॉलेज  फीस
  2. कॉलेज / स्कूल / छात्रावास फीस
  3. परीक्षा / लाइब्रेरी / प्रयोगशाला शुल्क
  4. आवश्यक पुस्तक / उपकरण / कंप्यूटर / यूनिफार्म खरीदने के लिए
  5. कॉशन डिपाजिट (Caution deposit) / रिफंडेबल (refundable) डिपाजिट / बिल्डिंग फण्ड
  6. बाइक (two-wheeler) खरीदने के लिए 50,000 रुपये तक
  7. विदेश में पढाई के लिए लोन पर आने जाने का खर्चा (travel expenses)

Education Loan Kaise Milega

अब के समय में किसी भी व्यक्ति नें कितनी पढ़ाई की है और किस संस्था से पढ़ा है यह काफी हद तक मायने रखता है. 12वीं के बाद सभी का सपना होता है किसी अच्छे कॉलेज या विदेश में जाकर पढ़ाई करे. लेकिन, टैलेंट होने के बाद भी, लगातार महंगी होती जा रही हायर स्टडी से कुछ स्टूडेन्ट्स का ये सपना साकार नहीं हो पाता है. अगर आपका भी ऐसा कोई सपना है तो निराश होने की जरूरत नहीं है. बल्कि आगे की पढाई के लिए बैंक लोन का सहारा ले सकते हैं. एजुकेशन लोन के जरिये आप अपने सपने पूरे कर सकते हैं. यह जानने के लिए कि एजुकेशन लोन कैसे, किस तरह, और किन दस्तावेजों के आधार पर मिलेगा, इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें.

लगभग सभी बैंक एजुकेशन लोन देती हैं. हालांकि यह आसानी से नहीं मिलता है और सही अमाउंट का लोन भी मिल जाए इसके लिए थोड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है. इसलिए हम जो बातें आपको बता रहे हैं, उनका ध्यान रखें तो आपकी ये मेहनत कम हो सकती है.

Education Loan Kaun Le Sakta Hai

लोन लेने की पात्रता किस किस के पास है, यह जानने के लिए निम्न बिंदुओं पर गौर किया जा सकता है.

  • एजुकेशन लोन ऐसे किसी भी स्टूडेंट को मिल सकता है, जिसकी उम्र 16-24 के बीच में हो.
  • उसकी नागरिकता भी मायने रखती है, यदि वह नागरिक भारत से लोन लेता है, और भारतीय नहीं है तो उसकी लोन अर्जी खारिज कर दी जाएगी.
  • तीसरा और सबसे महत्वपूर्ण बिन्दु, यह कहता है कि लोन प्रार्थी नें अगर किसी इंस्टीट्यूट में अपना एडमिशन कन्फ़र्म करा लिया है, तभी उसे लोन मिलेगा अन्यथा वह लोन लेने का हक़दार नहीं माना जाएगा.
  • एजुकेशन लोन स्कूल, कॉलेज और हॉस्टल की फीस, परीक्षा, लाइब्रेरी और लेबोरेटी की फीस, किताबें, इक्विपमेट, इंस्टूमेंटस, यूनिफॉर्म खरीदने के लिए, विदेश में पढ़ाई के लिए यात्रा खर्च, रास्ते का खर्च, स्टडी टूर, प्रोजेक्ट वर्क, थीसिस इत्यादि के लिए मिल सकता है.

Bank Investigation

एजुकेशन लोन देने से पहले बैंक उसकी रिपेमेंट सुनिश्चित करता है. इससे पहले भी लोन से संबंधित कई पोस्ट पब्लिश किया जा चुका है. सभी में एक बात कॉमन है. बैंक लोन देने से पहले लोन ब्याज सहित बैंक को कैसे मिलेगा यह सुनिश्चित करने के बाद ही लोन एटा है. आमतौर पर लोन उसी व्यक्ति को दिया जाता है, जो इसे वापस करने की क्षमता रखता हो. स्टूडेन्ट के अभिभावक या स्टूडेन्ट पढ़ाई खत्म करने के बाद लोन रिपेमेंट कर सकते है. लोन की वापसी के लिए सभी बैंकों के अपने नियम कायदे हैं. कुछ बैंक स्टडी पूरी होते ही तत्काल रिपेमेंट की शर्त रखते हैं तो वहीं कुछ बैंक पढ़ाई पूरी होने के बाद कुछ साल का गैप देते हैं. जिससे कि नौकरी मिलने के बाद आप आसानी से ईएमआई दे सकें.

Bank Terms and Conditions

बैंक एजुकेशन लोन लेने के बाद और उपरोक्त दिए हुए सभी दायरों में से निकलने के बाद प्रार्थी के आगे कुछ शर्तें रखता है, जो निम्न हैं.

  • इंस्टीट्यूट बैंक की रिकग्नाइज्ड लिस्ट में हो. मतलब कि इंस्टीट्यूट मान्यता प्राप्त हो और इंस्टीटयूट नें आपका एडमिशन कन्फ़र्म कर दिया हो. यानी इंस्टीट्यूट आपको अपने यहां पढ़ाने के लिए तैयार हो.
  • स्टूडेंट का अकैडमीक रिकॉर्ड काफी मायने तक एक बहुत महत्वपूर्ण विषय वस्तु है. बैंक सबसे पहले यही चाहते है कि जिस स्टूडेंट को लोन दिया जा रहा हो, वह सच में उस काबिल हो और उस लायक हो. यह पता करने के लिए सबसे पहली नजर उसके अकैडमीक रिकॉर्ड पर जाती है, उसने क्या कैसा और कहां प्रदर्शन किया. क्या वह आगे पढ़ने के काबिल है? यह सारी बातें उसके अकैडमीक रिकॉर्ड पर निर्भर करती है.
  • तीसरी शर्त यह है कि पढाई के बिच में कभी कोई गैप नहीं हुआ हो. मतलब जब वो लोन लेने जाए तबतक उसने गैप न रखा हो. क्यूँकि गैप अक्सर एक बुरा नजरिया उतकर्षित करता है.
  • चौथी शर्त यह है कि पैरेंट्स, का एक निश्चित आय स्रोत हो यानी वे एक निश्चित आय कमा रहे हो. ताकि इन केस अगर स्टूडेंट किसी कारणवश बैंक को लोन चुकाने में असफल होता है, तब उसके पैरेंट्स लोन चुका सकते हैं.

Education Loan Document List

  • प्राइमरी दस्तावेज सबसे ज्यादा जरूरी हैं, जिनमें एक पहचान पत्र और एक अड्रेस प्रूफ रख सकते हैं.
  • इसके साथ साथ लोन लेने वाले व्यक्ति के पैरेंट्स या अभिभावक का पहचान पत्र, आधार कार्ड और अड्रेस प्रूफ काफी ज्यादा जरूरी है.
  • लोन लेने वाले व्यक्ति का उसके पैरेंट्स या अभिभावक के साथ रिश्ता साबित करने के लिए भी एक दस्तावेज जरूरी है. इसमें किसी पहचान पत्र या किसी एफिडेविट को रख सकते हैं.
  • जिस इंस्टीट्यूट में आप लोन लेना चाहते है, उस इंस्टीट्यूट से संबंधित सभी दस्तावेज आपके पास होने चाहिए. जैसे उस इंस्टीट्यूट द्वारा दिया गया एडमिशन लैटर, लोन अस्सेस्मेंट लैटर.
  • जो व्यक्ति बाहर के देशों में पढ़ना चाहते है, उन लोन प्रार्थियों को कुछ अलग दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है. जिनमें इंस्टिट्यूट का Admission Letter लेटर तो शामिल होता ही है उसके साथ पासपोर्ट और वीजा भी शामिल होता है.
  • अक्सर लोन एक बड़ी रकम होती है, तो प्रार्थी के पास एक बैंक अकाउंट होना काफी जरूरी है. ये बैंक अकाउंट अगर लोन लेने वाले बैंक अकाउंट में न हो तो भी चलेगा. पर अगर उसी में हो तो काफी हद तक बेहतर है.

Bank Guaranter

  • ज्यादातर बैंकों में चार लाख रुपये तक के लोन के लिए गारंटर की जरूरत नहीं होती. लेकिन यदि इससे ज्यादा लोन चाहते हैं तो गारंटर की जरूरत होगी. गारंटर लोने लेने वाले के गार्जियन्स या फिर रिश्तेदार हो सकते हैं, जिन पर बैंक भरोसा कर सके.
  • आमतौर पर बैंक भारत में स्टडी करने पर 5 से 15 लाख रुपये और विदेश में पढ़ाई करने के लिए 20 से 25 लाख रुपये तक का लोन देती हैं. 4 से 7.5 लाख रुपये तक के लोन गारंटर की मदद से ही मिल सकते हैं. लेकिन इससे ज्यादा की राशि के लोन के लिए बैंक प्रॉपर्टी के पेपर्स या ऐसे ही दस्तावेज जमानत के रूप में मांगते हैं.

इन सभी प्रक्रिया और कागजात के साथ बैंक जाएँ और लोन फॉर्म के साथ ब्रांच मैनेजर से मिलें. कुछ Case में सभी कागजात के होने पर भी बैंक लोन नहीं देती है. इसके कई वजह हैं.

  • जिस जगह से Education Loan Apply कर रहे हैं वह Black List हो सकता है.
  • बैंक को इतना लोन देने के लिए authorize नहीं किया गया हो.
  • पहले से कुछ लोग Education Loan लेकर नहीं चुकाया हो.
  • जिसे Guarantor बनाया गया है वह बैंक की नज़र में Defaulter हो.
  • Parents का Civil Score सही नहीं हो.

Education Loan Key Points

  • कोर्स पूरा होने के एक वर्ष बाद लोन का भुगतान शुरू करना होगा.
  • पढाई के दौरान और पढाई खत्म होने के एक वर्ष बाद तक लोन भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है.
  • ब्याज मूल राशि (principal amount) में जुड़ता रहेगा.
  • लोन भुगतान की अवधि 15 वर्ष है.
  • आप समय से पहले भी लोन का भुगतान कर सकते हैं.

अंशुमन के साथ पहली परेशानी थी वह जिस जगह से Education loan Apply कर रहा था वह Black List था. लेकिन उसे लोन मिल गया है अगले पोस्ट में इसके बारें में डिटेल में बताया जायेगा उसे लोन कैसे मिला.

Conclusion Education Loan

लोन मतलब कर्ज और कई बार इसके लिए दोस्त या रिश्तेदार से मदद लेना होता है. जब दोस्त या रिश्तेदार कर्ज देने से पहले कब लौटोगे इसके बारें में जानना चाहते हैं तो यह बैंक है जिसका लोन लेने वाले से कोई सम्बन्ध नहीं है. बैंक कभी भी लोन देने से पहले कब और ब्याज सहित लोन वापिस करोगे यह जानना चाहती है. लोन लेने से ज्यादा लोन लौटना यह बड़ी बात है. लोन संबंधित यदि आपके मन में कोई प्रश् हो तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं.

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *