BloggingTop10

ट्रैफिक लोस क्यूँ होता है? Why Traffic Loss

trafficloss-quickdiscuss
Spread the love
trafficloss-quickdiscuss

TRAFFIC LOSS KYU HOTA HAI अक्सर ब्लोग्गेर्स और वेबसाइट ओनर्स ट्रैफिक की रट लगाते रहते हैं। मैं भी एक ब्लॉगर हूँ और मुझे भी ट्रैफिक चाहिए। क्यूंकि एक ब्लॉगर कभी भी फुरसत में नहीं रहता है, सोते जागते हमेशा उसे ब्लॉग, कंटेंट और उसका ट्रैफिक ही दिखता रहता है। हमेशा ब्लॉग की पहुँच ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाना चाहता है। यदि किसी ब्लॉग पर ट्रैफिक और कमेंट नहीं है इसका मतलब एक कलाकार अपने कला का प्रदर्शन ऐसे कमरे में कर रहा है जहां उसे सुनने या देखने वाला कोई नहीं है. ब्लोग्गेर्स ही एक मात्र ऐसा प्रोफेशन है जो अपने रीडर्स की मदद करना चाहता है. यदि आप भी किसी ब्लॉग से लाभ लेते हैं और उसे कुछ मदद करना चाहते हो तो उसकी मदद जरूर करें.

Traffic Loss Kya Hai

क्या आप जानते हैं, ट्रैफिक लोस क्यूँ होता है? यदि नए ब्लोग्गेर्स हो तो कोई बात नहीं लेकिन कुछ महीने या सालों से ब्लॉग्गिंग कर रहे हो तो अपना एक्सपीरियंस जरूर शेयर करें. क्यूंकि यहाँ जो बताने वाला हूँ, मेरा एक्सपीरियंस है. हो सकता है आपका एक्सपीरियंस कुछ और हो. ब्लॉग्गिंग भी एक्सपीरियंस है. ट्रैफिक लोस क्यूँ होता है इससे पहले क्या आप जानते हो ट्रैफिक लोस क्या है? Comment में जरूर बताएं.

सभी बिज़नस में Sine Curve बनता है. एक समय ऐसा होता है जब बिज़नस चोटी पर होता है और देखते ही देखते ग्राफ नीचे और जाता है. कुछ दिन बाद फिर से यह ग्राफ फिर से बढ़ता है.  यह घटने बढ़ने का ग्राफ चलता ही रहता है. वैसे भी जब डॉक्टर पल्स चेक करता है तो उसका ग्राफ भी ऊपर नीचे करता रहता है यदि यह ग्राफ एक सीधी लाइन में आ जाये तो डॉक्टर को I am Sorry ! He is no More. कहना होता है. ठीक ऐसा ही बिज़नस में होता है उतार चढ़ाव लगा रहता है और ब्लॉग्गिंग की दुनिया में उतार मतलब जब ब्लॉग पर कम ट्रैफिक आता है तो ट्रैफिक लोस हो जाता है. उम्मीद है ट्रैफिक लोस क्या होता है यह समझ आ गया होगा.

ट्रैफिक लोस मतलब ज्यादा या कम रीडर्स से कोई असर नहीं होता है. लेकिन जब लगातार ट्रैफिक कम होता है तो ब्लॉगर परेशान होने लगता है. जैसे February 2018 में Guruji Tips ब्लॉग की ट्रैफिक लगातार कम होने लगा और अगले महीने तक 80% Down हो गया था. सच पूछो तो उस समय बहुत परेशानी हुई थी. लेकिन 2 महीने लगा उसे रिकवर किया गया. आज फिर से इस ब्लॉग का Readership अच्छा हो गया है.

Traffic Loss Kyu Hota Hai

Traffic Loss Kyu Hota Hai इसके बारें में सभी अपना एक्सपीरियंस ही शेयर करते हैं. क्यूंकि ट्रैफिक कम क्यूँ हुआ? इसके बारें में सर्च इंजन ही बता सकता है. लेकिन सर्च इंजन कुछ भी नहीं बताता. यहाँ जो कुछ भी शेयर किया जा रहा है वह हमारा एक्सपीरियंस है. यदि कभी आपके साथ भी ऐसा हुआ है जैसे पिछले महीने से इस महीने कम ट्रैफिक आया तो आपके अनुसार क्या हो सकता है?

Search Engine Update

Search Engine user experience को और अच्छा बनाने के लिए लगातार अपने अन्दर बदलाव करते रहता है. ऐसे भी जब कभी भी सर्च इंजन में कोई बदलाव होता है तो ट्रैफिक कम हो जाता है. जब गूगल ने Panda update किया था तो कई वेबसाइट का ट्रैफिक ZERO भी हो गया था. Guruji Tips Blog पर ही January 2018 में 1,00,000 Page views था. लेकिन April 2018 में यह 50,000 हो गया था. अक्सर ब्लोग का ट्रैफिक घटने और बढ़ने में 2 से 3 महीने का समय लेता है. यदि सर्च इंजन में किसी तरह का अपडेट नहीं हो तो SEO का रिजल्ट भी मिलने में 2 से 3 महीने का समय लग जाता है. यदि ब्लॉग पर काम करना छोड़ भी दोगे तो अगले ही दिन ट्रैफिक ZERO नहीं होता है. लेकिन यदि किसी ब्लॉग पर प्रतिदिन पोस्ट पब्लिश किया जाये तो ट्रैफिक लगातार बढ़ते रहता है.

Regular Post Publish

Regular Post Publish नहीं होना भी एक वजह है. यहाँ रेगुलर मतलब प्रतिदिन 10 Post से नहीं है. Regular Post मतलब आपका एक schedule होनी चाहिए. Daily, Weekly या Monthly किस तरह पोस्ट पब्लिश करना है. जो भी Schedule है उस Schedule में Regular Post Publish होना चाहिए. यदि किसी ब्लॉग पर हर दिन दो पोस्ट पब्लिश किया जाये तो बहुत जल्दी अच्छी रीडरशिप मिल जायेगा. कुछ ब्लोग्गेर्स का कहना यह भी है कि ज्यादा पोस्ट पब्लिश करने से यूजर अनसब्सक्राइब कर देते हैं. कुछ हद तक यह सही हो भी सकता है. लेकिन जब भी गुरूजी टिप्स पर रेगुलर 2 पोस्ट हर अपडेट किया गया तो उसका परिणाम बुत ही अच्छा मिला है.

Less Traffic Niche

कई बार लोगों का कमेंट आता है, अब तक कई पोस्ट पब्लिश कर चुका हूँ लेकिन व्यूज नहीं मिल रहा है. कुछ Niche ऐसा होता है जिसका searches बहुत कम होता है. यदि ऐसे Niche में काम करोगे तो कितना भी SEO कर लो Traffic कम ही मिलेगा क्यूंकि इसे पढने वाले लोग कम हैं. इसीलिए ब्लॉग शुरू करने से पहले हमेशा सही टॉपिक सेलेक्ट करना चाहिए. कुछ ऐसे Niche हैं जिसका Searches बहुत कम है लेकिन, CPC बहुत अच्छा होता है.

Readers Comment

ब्लॉग पोस्ट पब्लिश करने से पहले रीडर्स को कमेंट के लिए जरूर कहना चाहिए. रीडर्स को कमेंट के लिए कैसे बोले शायद यह आपका प्रश्न हो सकता है. पोस्ट लिखते समय नीचे के पैराग्राफ में जरूर लिखें “यदि इस पोस्ट से संबंधित आपका कोई प्रश्न हो तो कमेंट में जरूर लिखें.” ऐसा लिखने से रीडर को याद दिलाया जाता है वो कमेंट भी कर सकता है. यदि किसी ब्लॉग पोस्ट पर कमेंट नहीं हो तो ब्लॉगर का उत्साह टूट जाता है. यह आर्टिकल आप पढ़ रहे हो इसका मतलब आप एक ब्लॉगर है. जब कभी भी किसी अन्य ब्लॉगर का पोस्ट पढो तो उसके पोस्ट पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें.

Social Media Presence

कई ब्लोग्गेर्स ऐसे होते हैं जो लगातार पोस्ट पब्लिश करते रहते हैं लेकिन सोशल मीडिया पर कोई अपडेट नहीं करते हैं यह बिलकुल गलत है. सोशल सिग्नल्स भी सर्च इंजन के लिए एक रैंकिंग फैक्टर है. यदि सोशल सिग्नल्स अच्छा होगा तो ट्रैफिक अच्छा मिलता है. वैसे इस लिस्ट में मैं भी हूँ. गुरूजी टिप्स का बहुत कम ब्लॉग पोस्ट सोशल मीडिया पर शेयर किया जाता है.

Copy Paste

ब्लॉग्गिंग का दुश्मन जी हाँ Copy Paste ब्लॉग्गिंग का दुश्मन है. किसी के पोस्ट से inspire होना अच्छी बात है. लेकिन उसके मेहनत को कॉपी पेस्ट करना किसी जुर्म से कम नहीं. ऐसा कर कभी भी अच्छा ब्लॉग और ब्लॉगर नहीं बन सकते हैं. ब्लॉग्गिंग का मतलब अपना एक्सपीरियंस और जानकारी दूसरों के साथ साझा करना होता है. जब किसी और के ही जानकारी को अपने ब्लॉग पर शेयर करोगे तो कैसे कोई आपके ब्लॉग पर समय देगा. रीडर बहुत समझदार होता है. वह कई ब्लॉग को फॉलो करता है और यदि उसे पता चल जाये यह तो कॉपी पेस्ट है सोच सकते हो वह क्या करेगा. ब्लॉग्गिंग फेसबुक पेज नहीं है. किसी के स्टेटस को #Copy के साथ पब्लिश कर दिया और हजारों लिखे और कमेंट मिल जायेगा.

Clunky URLS

Clunky URL, SEO का दुश्मन है. क्या आप जानते हैं Clunky URL क्या होता है. अब तक इसके बारें में जानते थे या नहीं यदि जानते थे तो क्या कमेंट में जरूर बताना. Clunky URL में कोई कीवर्ड नहीं होता है. यह बहुत ही अजीब तरह से होता है. नीचे उसका उदहारण देख सकते हो. URL हमेशा SEO Friendly होना चाहिए और Clunky URL SEO Friendly नहीं होता है.

https://www.quickdiscuss.com/sj299wnee7nen88ebw87777e7hn

Update Version of WP, Theme and Plugin

Blogging के लिए वर्डप्रेस सबसे अच्छा प्लेटफार्म है और यूजर को ज्यादा से ज्यादा सुविधा देने के लिए वर्डप्रेस लगातार अपने फ्रेमवर्क को अपडेट करता है. वर्डप्रेस में ब्लॉग बनाने के लिए WordPress Theme और WordPress Plugin का इस्तेमाल किया जाता है. इसमें हमेशा कुछ न कुछ अपडेट किया जाता है. इसीलिए हमेशा WordPress framework, theme aur plugin का Updated version ही उसे करना चाहिए. यह वर्डप्रेस सिक्यूरिटी के लिए भी जरूरी है.

Only Post Publish

कुछ दिन पहले मेरी बात एक नए ब्लॉगर से हुई उससे पूछा ब्लॉग ट्रैफिक के लिए क्या करते हो? उसका जवाब था. ” हर दिन दो से तीन पोस्ट पब्लिश करता हूँ.” सिर्फ पोस्ट पब्लिश करने से कुछ नहीं होगा. जैसे कोई बहुत अच्छा समोसा बनाता है लेकिन उसके बारें में लोगों को बताता नहीं है मतलब उसका Promotion नहीं करता है तो कैसे कोई उसके दुकान तक पहुंचेगा. यदि अपनी पहुँच को बढ़ाना है तो प्रमोशन करना होगा.

Conclusion Traffic Loss

Traffic Loss Kyu Hota Hai यह समझ आ गया होगा. ट्रैफिक लोस से बचने के लिए  बताये गए बातों को ध्यान में रख कर ब्लॉग्गिंग करें. कई बार ऐसा भी होता है जब सभी बातों को ध्यान में रखा जाये और फिर भी ट्रैफिक लोस हो जाता है. इससे घबराने की कोई जरूरत नहीं है. श्रीमद भागवत गीता में कहा गया है. “कर्मा करो फल की चिंता मत करो.” आपको अपना काम सही से करना है. यदि कभी Search Engine में कोई अपडेट होता है तो भी ट्रैफिक लोस हो सकता है या हो जाता है. लेकिन यह जल्दी ही रिकवर हो जाता है.

Comment here